HOT!Subscribe To Get Latest VideoClick Here

डर से मत डर कुछ अलग कर | Dar Se Mat Dar Kuch Alag Kar | Hrithik Roshan (ऋतिक रोशन)




डर से मत डर,
डर से मत डर कुछ अलग कर,
चेह उँगलियों वाला कभी कलाकार नहीं बन पायेगा,
डर तुझे यह समझायेगा,
तू आत्मविश्वास दिखायेगा, तू डर से आँख मिलाएगा,

डर से मत डर कुछ अलग कर,
डर का सामना कर, आगे बढ़, कुछ अलग कर,
ज़िंदगी के हर मोड़ पे तुझे दर्द सताएगा,
उसी दर्द का फायदा बिना चुके यह डर उठाएगा,
और तुझसे कहेगा की तू आगे कुछ नहीं कर पायेगा,

पर क्या वह लिख कर दे पायेगा की तू हार जायेगा ,
तेरी हर कमजोरी पर यह डर घर बनाएगा,
पर तू अपना हुनर दिखायेगा,
उसी कमजोरी को तू अपनी ताक़त बनाएगा,
और उस दिन यह डर तुझ से डर जायेगा। 

डर का खेल नीडरर हो के खेल,
डर से मत डर मत डर  …डर से मत डर,
आगे बड, भुला दे डर, कुछ अलग कर !

x..........................................................................................x.......................................................................................................................x

#Tags:dar se mat dar kuch alag kar lyrics dar se mat dar lyrics in hindi dar se mat dar kuch alag kar translate in english dar se mat dar lyrics in english dar se mat dar poem dar se mat dar status download dar se mat dar hrithik roshan Dar se mat dar kuch alag kar lyrics Dar se mat dar lyrics in Hindi Dar se mat dar lyrics in English Dar se mat dar Quotes in Hindi Dar se mat dar mp3 download Dar se mat dar poem डर से मत डर कुछ अलग कर lyrics

Post a Comment

0 Comments