HOT!Subscribe To Get Latest VideoClick Here

Ticker

6/recent/ticker-posts

पन्द्रह अगस्त का दिन कहता | स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त पर हिंदी कविता | Poem on Independence Day In Hindi

स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त पर हिंदी कविता, Poem on Independence Day In Hindi


पन्द्रह अगस्त का दिन कहता, आजादी अभी अधूरी है।
सपने सच होने बाकी हैं, रावी की शपथ न पूरी है॥
जिनकी लाशों पर पग धर कर, आजादी भारत में आई।
वे अब तक हैं खानाबदोश, गम की काली बदली छाई॥

कलकत्ते के फुटपाथों पर, जो आंधी-पानी सहते हैं।
उनसे पूछो, पंद्रह अगस्त के बारे में क्या कहते हैं॥
हिन्दू के नाते उनका दुख सुनते, यदि तुम्हें लाज आती।
तो सीमा के उस पार चलो, सभ्यता जहां कुचली जाती॥

इंसान जहां बेचा जाता, ईमान खरीदा जाता है।
इस्लाम सिसकिया भरता है, डॉलर मन में मुस्काता है॥
भूखों को गोली नंगों को हथियार पिन्हाए जाते हैं।
सूखे कण्ठों से जेहादी नारे लगवाए जाते हैं॥

लाहौर, कराची, ढाका पर मातम की है काली छाया।
पख़्तूनों पर, गिलगित पर है गमगीन गुलामी का साया॥
बस इसीलिए तो कहता हूं आजादी अभी अधूरी है।
कैसे उल्लास मनाऊं मैं? थोड़े दिन की मजबूरी है॥

दिन दूर नहीं खंडित भारत को पुनः अखंड बनाएंगे।
गिलगित से गारो पर्वत तक आजादी पर्व मनाएंगे॥
उस स्वर्ण दिवस के लिए आज से कमर कसें बलिदान करें।
जो पाया उसमें खो न जाएं, जो खोया उसका ध्यान करें॥

x...…x...…..x

#Tags: 15 पर कविता हिंदी में,स्वतंत्रता दिवस पर वीर रस की कविता,15 अगस्त कविता का रसग्रहण कीजिए,स्वतंत्रता दिवस पर बाल कविता,जोश भरी कविताएँ,आजादी कविता का हिन्दी अनुवाद किया है,सैनिकों पर हिंदी में देशभक्ति कविता,15 अगस्त पर छोटा भाषण,वीर सेनानियों पर कविता,Swatantrata senani par Kavita,पन्द्रह अगस्त का दिन कहता,स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त पर हिंदी कविता,Poem on Independence Day In Hindi, Independence Day Poem, Hindi Poem on Independence day for 15 August 2021 India स्वतंत्रता दिवस

Post a Comment

0 Comments

close